रविवार, 7 मार्च 2010

नुक्कड़ वाली तुलसी बाई

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर एक बाल-कविता

पैंट कमीज़ें और साड़ियाँ
ले जाती है तुलसी बाई
कपडे सभी इस्तरी करके
लौटाती है तुलसी बाई .

छोटा कद है, रंग साँवला
माथे पर बिंदी है लाल
अपने छोटे बच्चों का भी
रखती है वह खूब ख़याल .

हिम्मत से है किया सामना
जब भी कभी मुसीबत आयी .
बड़ी मेहनती नारी है यह
नुक्कड़ वाली तुलसी बाई .

1 टिप्पणी:

अल्पना वर्मा ने कहा…

रोचक बाल कविता.
सीधे सादे शब्दों मे तुलसीबाई ' जो मेहनतकश महिलाओं का प्रतिनिधित्व कर रही है' का वर्णन किया है.