शुक्रवार, 1 मई 2009

मई दिवस

पहली मई कामगारों का दिन है ।
मज़दूरों के अधिकारों का दिन है ।
तुलसी लछमी कमला घर पर रहतीं
पुरुष कहें ये खाली दिन भर रहतीं।
मन में पीड़ा चिंता उधेड़बुन है
फिर भी अनथक काम करें यह धुन है ।
पूर्वाग्रह यह टस से मस कब होगा ?
महिलाओं का 'मई दिवस' कब होगा ?

2 टिप्‍पणियां:

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…

महिलाए भी उठाएं
अपना निशान

निरन्तर- महेन्द्र मिश्र ने कहा…

आपने मई दिवस पर बढ़िया पोस्ट लिखी है . दुनिया के सारे मजदूरों को इस अवसर पर सलाम करता हूँ .